मुख्य पृष्ठ पर वापिस जाये
क्या श्रम क़ानून के ऐतिहासिक बदलाव से श्रमिक और नियोक्ता दोनो को मिलेगा फायदा * कृषि विधेयक का विरोध कितना जायज * एहतियात बिना क्या कोरोना बद से बदतर होगा ? * एहतियात बिना क्या कोरोना बद से बदतर होगा ? * कहां जा रही है टीवी पत्रकारिता और हम * अभी राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा नही * अभी राजस्थान कांग्रेस में सबकुछ अच्छा नही * विशेष समिति निभाएगी सोनिया गांधी के लिए निगरानी और समन्वय की जिम्मेदारी * राजस्थान सरकार के ट्रबल शूटर रहे अविनाश पांडे और अन्य नेताओं को दी अहम जिम्मेदारी * क्या कांग्रेस को आत्मविश्लेषण की जरूरत है ? *
कलक्टर, एस. पी. और अन्य अधिकारियों ने किया पौधरोपण
वृक्ष मानव के लिए जीवनदायिनी - जिला कलक्टर के.के. शर्मा

चित्तौड़गढ़ 15 जुलाई/जिला स्तरीय 71 वां वन महोत्सव एवं पौधारोपण कार्यक्रम बुधवार को दुर्ग स्थित मृगवन में जिला कलक्टर के.के. शर्मा की अध्यक्षता, जिला सत्र एवं सेशन न्यायाधीश हेमन्त जैन के मुख्य आतिथ्य एवं जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव के विशिष्ठ आतिथ्य में आयोजित किया गया।

जिला कलक्टर के.के. शर्मा ने जिला स्तरीय वन समारोह में उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सबोंधित करते हुए कहा की वृक्षों का हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण योगदान है। वृक्ष हमारे लिए जीवनदायिनी है। वृक्षों की महत्ता के बारे में शास्त्रों एवं वेदों में भी बखान किया गया है। पौधा रोपण करना एवं पौधे का संरक्षण करना दोनों ही महत्वपूर्ण कार्य है। उन्होंने कहा कि वन महोत्सव में जो भी पौधा रोपण करें उसे जीवित रखे, संरक्षित रखे यही हमार धेय होना चाहिए, यही हमें लोगों को समझाना है। जिला कलक्टर ने जिले के समस्त जनप्रतिनिधियो, कार्मिकगण, प्रबुद्ध नागरिकगण, स्वयंसेवी संस्थाओं से आह्वान किया कि ग्रीन चित्तौड़गढ़ अभियान को जन आन्दोलन का रुप देते हुए इस वन्दनीय चित्तौड़गढ़ धरा पर पौधे रोपण कर एवं उन्हें निरन्तर संरक्षित कर स्वर्णिम प्रकृति श्रंगार की दिशा में अपनी अनन्य पहचान बनाएं।

उन्होंने कहा कि आज पूरे जिले में पौधारोपण की मुहिम चल रही है, सारे उपखण्ड में इसके लिए सारे एनजीओ, औद्योगिक संस्थानों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं को इसमें शामिल किया गया है। पूरे जिले में पौधारोपण हो रहा है एक लाख से ज्यादा पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि पौधे कम लगे लेकिन वह जीवित रहे यह सुनिश्चित् करें। उन्होंने जिले वासियों से अपील की है कि आप कहीं पर भी पौधारोपण करें उसकी देखभाल आपको करनी है। उन्होंने कहा कि एक पौधा ही लगाए पर उसकी देखभाल अवश्य करें एवं पौधारोपण कार्यक्रम का हिस्सा बने। उन्होंने जिले वासियों से आग्रह किया कि वे पौधारोपण कार्यक्रम को एक जनआन्दोलन का रुप दे। जब तक जन-जन इससे नहीं जुड़ेगा तब तक इसकी सार्थकता नहीं रहेगी। समारोह में जिला सत्र एवं सेशन न्यायाधीश हेमन्त जैन ने कहा कि पौधारोपण कार्य में हमेशा रुचि रही है, नए कोर्ट केम्पस में गतवर्ष 600 पौधे लगाए है जो अभी आदम कद तक आगए है। पिछले सप्ताह ही 51 पौधे लगाए है। उन्होंने कहा कि सावन में यह मुहिम चलती रहेगी। उन्होंने कहा कि पौधा लगाना ही पर्याप्त नहीं उसका संरक्षण भी जरुरी है। उन्होंने कहा कि कोर्ट केम्पस में जगह-जगह जहां पौधे लगाए वहां पानी की पर्याप्त सुविधा की ताकि पौधा मुरझाए नहीं। जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने ग्रीन चित्तौड़गढ़ सुरक्षित चित्तौड़गढ़ का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि यदि एक व्यक्ति एक पैड़ लगाए एवं उसका तीन वर्ष तक उसका ध्यान रखे तो लक्ष्य को पाने में आसानी हो सकती है। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति एक पैड़ लगाए एवं तीन वर्ष तक उसका ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि 13 वर्ष में अबतक 15 हजार पौधे लगा चुके हैं। उन्होंने कहा कि एक चीज है जिससे मन कभी नहीं थकता है और वह है पैड़ लगाना।

अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन मुकेश कुमार कलाल ने कार्यक्रम में आए सभी अधिकारियों एंव कर्मचारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि पौधा लगाना ही महत्पूर्ण नहीं है उसकी सुरक्षा करना भी जरुरी है। उपवन संरक्षक सुगनाराम जाट ने भी वृक्षों की महत्ता पर प्रकाश डाला एवं विस्तार से वृक्षों की उपयोगिता पर उपस्थित अधिकारियों को जानकारी दी।

जिला कलक्टर सहित अथितियों ने लगाए विभिन्न किस्मों के पौधे

पौधारोपण कार्यक्रम में जिला कलक्टर के.के. शर्मा ने जामुन का पौधा लगाया, जिला सेशन एवं न्यायाधीश हेमन्त जैन ने इमली, जिला पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव ने पारस पीपल का, उप वन संरक्षक सुगनाराम जाट ने आंवले का, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन मुकेश कुमार कलाल ने पारस पीपल के पौधे लगाए तथा अतिक्ति मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतन कुमार एवं मौजूद अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों ने भी विभिन्न किस्मों के पौधे लगाए।

कार्यक्रम में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सरिता सिंह, यूआईटी सचिव सीडी चारण, जिला रसद अधिकारी बीजल सुराणा सहित वनमण्डल के अधिकारी कर्मचारी एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। ग्रीन चित्तौड़गढ़ कार्यक्रम के जिला स्तर पर विभिन्न कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने सघन पौधौरोपण किया एवं जिले के विभिन्न उपखण्डों एवं ब्लॉक स्तर पर भी सघन पौधारोपण के कार्यक्रम आयोजित किए गए। ---000---

Share News on